EMI Calculator – लोन ईएमआई कैसे कैलकुलेट करे? (Easy & Fast)


EMI Calculator

आप नीचे दिये गए EMI Calculator की मदद से अपने किसी भी लोन की ईएमआई निकाल सकते है|

इसके लिए आपको अपनी लोन राशि, ब्याज दर और लोन अवधि की जानकारी भरकर, पेज के किसी भी खाली स्थान पर टैब कर देना है और इसके बाद EMI कैलकुलेट हो जाएगी –

EMI कैलकुलेटर

HappyHindi.com

 

✦ EMI क्या होती है?

EMI का मतलब होता है – Equated Monthly Installment यानी समान मासिक क़िस्त|

बैंक या वित्तीय संस्थानों द्वारा प्राप्त लोन के Repayment पर चूकाई जाने वाली राशि, जिसमे Interest + Pricipal Amount शामिल होता है, उसे ईएमआई कहाँ जाता है|

EMI कैलकुलेट करने के लिए इस Formule का इस्तेमाल किया जाता है –

EMI Formula

जिसमे –

E = EMI

P = Principal Amount

R = Interest Rate (On Monthly Basis)

N = Loan Tenure (In Months)

इन सभी के Base पर किसी भी लोन की EMI Calculate की जा सकती है|

For Example (उदहारण के लिए)

Q यदि आप 7 लाख का पर्सनल लोन लेते है, जिसकी ब्याज दर है: 12% और अवधि है: 5 वर्ष (60 महीने) तो इसकी EMI कितनी होगी? –

Ans: ऊपर दिये EMI Formule के अनुसार –

✦ Loan EMI = ₹15,571

✧ Total Repayment = ₹9,34,267 (15,571*60)

✦ Total Interest = ₹2,34,267 (9,34,267 – 7,00,000)

EMI Graph & Chart

वर्षमूलधन ₹ब्याज ₹कुल
भुगतान
11,08,70378,15015.53%
21,22,48964,36433.03%
31,38,02448,82952.75%
41,55,52931,32474.96%
51,75,25411,599100.00%

आप ऊपर दिये गए चार्ट और टेबल में देख सकते है की कैसे शुरुवाती महीनो की EMI में ब्याज राशि ज्यादा और प्रिंसिपल अमाउंट कम होता है, जबकि आखिरी महीनों में Principal Amount ज्यादा होता है और Interest Amount कम होती है|

✦ Loan EMI कैसे कैलकुलेट करे?

ऊपर दिये गए EMI Calculator की मदद से आप किसी भी लोन की EMI ज्ञात कर सकते है, जैसे –

ईएमआई कैलकुलेट करने के लिए निम्न डिटेल्स एंटर करे –

1 Loan Amount (₹)

जितना लोन आप लेना चाहते है या जितने के लिए आप Eligibile है|

2 Interest Rate (%)

इसमें आपको लोन की ब्याज दर को दर्ज करना है, जो अलग अलग बैंकों में भिन्न-भिन्न हो सकती है|

3 Loan Tenure (Year/Month)

आखिर में लोन कितने वर्षो या महीनों के लिया जा रहा है, उसकी अवधि अंकित करे|

EMI Calculated

ऐसा करते ही आपकी लोन ईएमआई की गणना हो जाएगी|

✦ EMI में बदलाव कैसे होता है?

मुख्यतौर पर आपको कितना लोन मिलेगा – यह आपके Credit Score और Documents पर निर्भर करता है और EMI कितनी होगी, यह लोन अमाउंट, ब्याज और अवधि पर मापा जाता है|

तो जाहिर सी बात है की अगर इन तीनों में से किसी भी एक फैक्टर में बदलाव होता है तो उसका सीधा असर आपकी EMI पर पड़ेगा|

इन बदलावों को भी आप ऊपर दिये Calculator की मदद से समझ सकते है|

पूर्व भुगतान (Prepayment)

इसका मतलब है की आप समय से पहले ही लोन अमाउंट का भुगतान करना चाहते है|

ऐसे में आपकी लोन अवधि कम हो जाती है और आप लोन से जल्दी मुक्त हो जाते है| लेकिन इसी कारण से बैंक को ज्यादा ब्याज नहीं मिल पता और उन्हें हानि होती है|

इसके लिए बैंक एक तरकीब का इस्तेमाल करता है, जो है चार्जेज| हाँ यदि आप बैंक को लोन का Prepayment करना चाहते है तो उसके साथ ही आपको उनके Charges का भी भुगतान करना होगा|

जिसके कारण बैंक को ज्यादा हानि नहीं हो पाती और वे उसे आसानी से मैनेज कर पाते है|

Summerry

उम्मीद है की आप समझ गए होंगे की EMI क्या होती है और EMI Calculate कैसे की जाती है|

यदि अभी भी आपके मन में ईएमआई और लोन से जुड़ा कोई सवाल है तो हमें Comment Box में पूछे – हम जल्द से जल्द उसका जवाब देने की कोशिश करेंगे|

Related Post


0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *