Nick Vujicic जिसने बिना हाथ पैरों के जीती है, ज़िंदगी की जंग – Unbelievable Life Story in Hindi


जब कभी हमारी ज़िन्दगी में समस्याएँ या मुश्किलें आतीं हैं, तो हम में से ज्यादातर लोग सोचतें हैं कि ऐसा मेरे साथ ही क्यों हो रहा है? यही सोच धीरे-धीरे हमारे अन्दर घोर निराशा पैदा करके हमारी ज़िन्दगी को एक बोझ बना सकती है। ऎसे में जरूरत है कि हम ख़ुद पर भरोसा रखें और अपनी पूरी ताकत के साथ उनका मुक़ाबला करें, और ऐसा तब तक करतें रहें जब तक हम उन पर विजय हासिल ना कर लें । आप सोचेंगे कि यह असंभव है, लेकिन विश्वास मानिए “जिंदगी में कुछ भी असंभव नहीं है”। अगर विश्वास न हो तो यह प्रेरक कहानी पढ़िए –

 

The Life Story of Nick Vujicic

4 दिसम्बर 1982 को ऑस्ट्रेलिया में एक बच्चे का जन्म हुआ जिसका नाम Nick Vujicic था| Nick Vujicic अन्य बच्चों की तरह स्वस्थ थे, लेकिन उनमे एक कमी थी – वे Phocomelia नाम के एक दुर्लभ विकार के साथ पैदा हुय थे, जिसके कारण उनके दोनों हाथ और पैर नही थे।life without limbs in hindi

डॉक्टर हैरान थे कि Nick Vujicic के हाथ पैर क्यों नहीं है| Nick Vujicic के माता पिता को यह चिंता सताने लगी थी कि Nick Vujicic का जीवन कैसा होगा – एक बिना हाथ पैर वाले बच्चे का भविष्य कैसा होगा ???

बचपन के शुरूआती दिन बहुत मुश्किल थे| Nick Vujicic के जीवन में कई तरह की मुश्किलें आने लगी| उन्हें न केवल अपने स्कूल में कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ा बल्कि उनकी विकलांगता और अकेलेपन से वे निराशा के अन्धकार में डूब चुके थे|

वे हमेशा यही सोचते थे और ईश्वर से हमेशा प्रार्थना करते थे कि काश उनको हाथ-पाँव मिल जाए| वे अपनी विकलांगता से इतने निराश थे कि 10 वर्ष की उम्र में उन्होंने आत्महत्या करने की कोशिश की|

लेकिन फिर उनक़ी मां के द्वारा दिए गए एक लेख को पढ़कर उनका जीवन के प्रति नज़रिया पूरी तरह से परिवर्तित हो गया । यह लेख एक समाचार पत्र में प्रकाशित हुआ था, जो एक विकलांग व्यक्ति की अपनी विकलांगता से जंग और उस पर विजय की कहानी थी । उस दिन उन्हें यह समझ में आ गया कि वे अकेले व्यक्ति नहीं हैं, जो संघर्ष कर रहे है|

nick vijicic story childhood

Nick (निक) धीरे धीरे यह समझ चुके थे कि वे चाहें तो अपनी जिंदगी को सामान्य तरीके से जी सकते है|  Nick ने धीरे धीरे पैर की जगह पर निकली हुयी अँगुलियों और कुछ उपकरणों की मदद से लिखना और कंप्यूटर पर टाइप करना सीख लिया|

17 वर्ष की उम्र ने अपने प्रार्थना समूह में व्याख्यान देना शुरू कर दिया| 21 वर्ष की उम्र में निक ने एकाउंटिंग और फाइनेंस में ग्रेजुएशन कर लिया और एक प्रेरक वक्ता के रूप में अपना करियर शुरू किया|

उन्होंने “Attitude is Attitude” नाम से अपनी कंपनी बनाई और धीरे धीरे Nick Vujicic को दुनिया में एक ऐसे प्रेरक वक्ता के रूप में पहचाना जाने लगा जिनका खुद का जीवन अपने आप में एक चमत्कार है| उन्होंने प्रेरणा और सकारात्मकता का सन्देश देने के लिए “Life Without Limbs” नाम से गैर-लाभकारी संगठन भी बनाया है|

nick vijicic swiming

nick vijicic surfing

life of nick vijicic

33 वर्षीय Nick Vujicic आज ना सिर्फ़ एक सफल प्रेरक वक्ता हैं, बल्कि वे वह सब करते है जो एक सामान्य व्यक्ति करता है| जन्म से ही हाथ-पैर न होने के बावजूद वे वे गोल्फ व फुटबॉल खेलतें है, तैरते हैं, स्काइडाइविंग और सर्फिंग भी करतें हैं।

यह अपने आप में एक उल्लेखनीय उपलब्धि है, लेकिन इससे भी ज्यादा प्रभावित करने वाली बात है, उनकी जीवन के प्रति खुशी और शांति की सम्मोहक भावना।

आज वे दुनिया को जिंदगी जीने का तरीका सिखा रहे हैं । Nick ने भौतिक सीमाओं में जकड़े के बजाए  अपने जीवन का नियंत्रण करने की शक्ति की पा ली और आशा के इसी संदेश के साथ 44 से अधिक देशों की यात्रा की है।

जहाँ हम छोटी-छोटी बातों से परेशान और हताश हो जाते है वहीँ Nick Vujicic जैसे लोग हर पल यह साबित करते रहते है कि असंभव कुछ भी नहीं – प्रयास करने पर सब कुछ आसान हो जाता है|

ज़िन्दगी द्वारा दी गयी हर चीज को खुले मन से स्वीकार करनी, चाहे वे मुश्किलें ही क्यों ना हों। मुश्किलें ही वो सीढ़ियां हैं जिन पर चढ़कर ही हमे ज़िन्दगी में कामयाबी और खुशी मिलेगी । जो हमारे पास है उसके लिए धन्यवाद दें|

Watch Inspirational Video Of Nick Vujicic


52 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  1. Bus yahee prarthana hai ki duniya ke sab log Nick Vujicic jaisa soche aur namumkin kuchh bhi na samjhe..
    Hats off of Nick Vujicic..

  2. इस कहानी को पढकर लगा .अगर मेहनत or सही सोच हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है!

  3. Great person Nick
    i hope for you and wishing , you will always success every work and ,and you will achieve success

  4. I don’t knw which day i meet u….nick ..but i knw dt one day i will surely met u…..
    I wnt to give u big big biggest huge …..
    Its my dream to meet u …?

  5. well till today this is the best story i got for confidence which can boost to any person…..atleast
    my heart salute you gentlman

  6. Apangta koi abhisarp nahi, nur yee samma ilalahi, ko mita sakta haio kon, jisko roushan kare khuda, usko bujha sakta hai kon..

  7. is kahani me ek bat bahut hi achhi lgi ki
    insan ke pass AGR spna hai to us spne jit hasil krne ke liye har nshi manana chahiye

  8. i am very motivate in this story please contact me nick from me because i very demotivate in present life so please contact nick

  9. Agar tum soch lo ki tumhe kuch karna hai to puri duniya ki taqat nhi ki wo tumhe rok sake
    Hats off to Mr. NICK VUJICIC

  10. Every, one wants to be suscces full but###suscces is not an easy ### Achived sweet fruit suscees comes ### After an untryid ### And continews hard work ### So TRY;”’ AND TRY AGAIN AND WIN WILL YOU GOAL…..

  11. Jindgi main agar aage badna hai to sabse pahle self motivated bano, kyonki books,story,thought e.t.c ye Sab chize Hume thode samay ke liye motivate karti hai uske baad phir we hum pahle jaise ho jate hai isliye dosto his din tumne kuch ban ne ki thaan li us din ke baad tumhe na to books ki jarurat hogi na kisi thought ki,isliye be self motivated– thanks

  12. एक कहावत है कि जब हरि की कृपा होती है तो पंगु भी
    पर्वत पार कर जाता है यही nick vujicic के साथ हुआ है.

  13. बहुत ही प्रेरणादायक, निक ने साबित किया की कुछ भी असम्भव नही