डर के आगे जीत है – Dar Ke Aage Jeet Hai Motivational Article in Hindi

डर जीवन का हिस्सा है और यह हर किसी के जीवन में होता है लेकिन कभी कभी हम डर को अपनी आदत बना लेते है और डर इतना हावी हो जाता है कि हमारा जीना मुश्किल हो जाता है| डर का सबसे बड़ा कारण आत्मविश्वास की कमी होता है या फिर डर तब लगता है, जब हम कोई नयी चीज करते है | जब हम अपने आरामदेह दायरे से बाहर कोई कार्य करते है तो हमें डर लगता है लेकिन डर को मिटाने का केवल एक ही तरीका वह है –

“वह कार्य जरूर करें जिसमें आपको डर लगता है” आप डर को डर का सामना करके ही समाप्त कर सकते है|

dar ke aage jeet hai self help

Dar Ke Aage Hi Jeet Hai

डर के आगे ही जीत है 

गलतियाँ सबसे होती है और यह कोई बड़ी मुश्किल की बात नहीं| ज्यादातर सफल लोगों के अनुसार गलतियाँ और असफलताएँ हमारे जीवन में अतिआवश्यक है और इसका महत्त्व सफलताओं से भी अधिक है |

हम गलती करके ही सीखते है और कोई दूसरा बेहतरीन तरीका नहीं है | महान लोगों के अनुसार आप जितनी ज्यादा गलतियाँ करते है उतनी ही ज्यादा आपके सफल होने की संभावनाएं बढ़ जाती है |

दुनिया में सिर्फ एक ही चीज गलत है और वह है अपनी गलती को दोहराना| 

सबसे बड़ी बात यह है – अपना जीवन दुसरे लोगों  के अनुसार जीना बंद करें, लोग कहते रहेंगे,  वह करें जो आपको सही लगता है, जो आपको अच्छा लगता है, जिसे करते वक्त आपको पता ही नहीं चलता कि कब सुबह से शाम हो गयी| हो सकता है कि आपकी परिस्थितियां ऐसी हो कि आप दिन भर वह नहीं कर सकते जो  आपको अच्छा लगता है लेकिन एक छोटी सी शुरुआत कीजिए आप देखेंगे कि आपकी जिंदगी बदल रही है|

एक कहावत है –

” अपने भीतर के संगीत को छिपाए हुए ही न मर जाएँ” |

ज्यादातर लोगों की जिंदगी केवल इसलिए अच्छी नहीं क्योंकि वे अपने दिन का ज्यादातर समय ऐसे कार्य करने में बिताते है जिनमे उनका मन नहीं लगता और ऐसा करने से वे अपना आत्मविश्वास खो देते है और उनकी जिंदगी जिन्दा लाश के समान बन जाती है|

एक रास्ता जिससे लाखों लोगों की जिंदगी बदल जाती है वह यह है कि वे लोग प्रेरणादायक पुस्तकें पढनी शुरू कर देते है| जब आप प्रेरक साहित्य, ब्लॉग और सकारात्मक प्रोग्राम्स देखते है तो आपकी जिंदगी में एक बड़ा बदलाव आने लगता है ऐसा लगता है जैसे चमत्कार हो रहा है | ऐसी पुस्तकें हमें बताती है कि “जीवन क्या है और इसको जीने का क्या तरीका है”| ऐसी पुस्तकें हमें बताती है कि कैसे वाकई में चमत्कार होते है और कैसे सृष्टि हमारे सपने को पूरा करने में हमारी मदद करती है|

 दरअसल प्रेरणादायक ज्ञान हमें अपने भीतर छुपी शक्तियों को पहचानने में मदद करता है | प्रेरणादायक पुस्तकें कोई नई बात नहीं बताती बल्कि ये तो हमारे भीतर छिपे ज्ञान से हमारा परिचय करवाती है |

और जिंदगी की सबसे अच्छी शरुआत यह हो सकती है कि धीरे धीरे ही सही लेकिन अपने दिल की बात सुनने की कोशिश शुरू करनी चाहिए और वह कार्य करने चाहिए जिससे हमें सच्ची ख़ुशी मिलती है न कि वे कार्य जो दुनिया हमें करते हुए देखना चाहती है | अपनी डिग्री, डर, पैसा और प्रतिष्ठा की झूठी खुशियों से अपने सपनों के पंख मत काटो|

14 Comments

  1. shreewastav February 24, 2016
  2. rakesh gobade March 12, 2016
  3. Devendra tyagi April 3, 2016
  4. neelam Singh Chouhan April 6, 2016
  5. bijay gupta April 19, 2016
  6. MAHESH April 21, 2016
  7. aquib javed May 12, 2016
  8. मोनी & JK May 29, 2016
  9. santosh kumar rai June 3, 2016
  10. Ahsan babu June 4, 2016
  11. Niraj das June 19, 2016
  12. Praveen kumar August 28, 2016
  13. Monu kumar January 18, 2017
  14. Rahul yadav January 19, 2017

Leave a Reply