5000 रूपये से बनाये 5000 करोड़ – Rakesh Jhunjhunwala Success Story in Hindi

राकेश झुनझुनवाला भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) के किंग कहे जाते है| वे एक बेहतर निवेशक, व्यापारी और इंसान है|उन्हें भारतीय शेयर बाजार के निवेशक गुरु की तरह मानते है|

उन्होंने सन् 1985 केवल 5,000 रूपये की पूंजी से शेयर मार्केट में निवेश (Investment ) करना शुरू किया था और आज उन्होंने उसी 5000 रूपये को 8,000 करोड़ रूपये तक पहुँचा दिया हैं|

Beginning : शुरुआत 

राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई 1960 में मुंबई में हुआ|जब राकेश 15-16 साल के थे| उनके पिताजी का थोडा बहुत इंटेरेस्ट शेयर बाजार में था|उन्हें देख कर राकेश के मन में भी रूचि जागने लगी, तो एक दिन राकेश ने अपने पिताजी से पूछ लिया कि ये शेयर बाजार (Stock Market) में भाव ऊपर नीचे कैसे होते है| तो राकेश के पिताजी ने कहा – “अख़बार पढ़ा कर, जिस कंपनी के बारे में न्यूज़ आई है, उस कंपनी के शेयर के भाव ऊपर नीचे होगे|” उस दिन राकेश को शेयर मार्केट के बारे में पहली सीख मिली थी। 

उसी उम्र से राकेश की रुचि भी शेयर मार्केट (Stock Investment) में बढ़ने लगी| वे अलग अलग कंपनियों के बारे में पढ़ने लगे और जानकारी लेने लगे|

उन्होंने अपनी स्नातक की डिग्री सीडनिहैम कॉलेज से पूरी की|राकेश ने अपने पिता से स्टॉक मार्केट में जाने की इच्छा जताई, तो उनके पिता ने कहा कि तुम्हे जो करना हैं ,वह करो लेकिन पहले प्रोफेशनल शिक्षा प्राप्त करो। तो उन्होंने चार्टेड अकाउंटेंट (CA) की पढाई पूरी की|

First Investment : निवेश के लिए पैंसे नहीं थे 

जब राकेश ने अपनी C.A. कि पढाई पूरी की तो उन्होंने अपने पिताजी से कहा कि मुझे शेयर बाजार में जाना है|तो पिताजी बोले कि उसके लिए मैं पैंसे नहीं दूंगा और तुम अपने दोस्तों से भी पैसे नहीं लोगे। 

इस तरह राकेश 1985 में शेयर बाजार में आ गए जब BSE Sensex 150 अंक पर था। वे Share Market में आ तो गए, पर उनके पास निवेश (Investment) करने के लिए पैंसे नहीं थे|तो उन्होंने जितना हो सके उतना अपनी बचत से जमा करके लगभग 5000 रूपये से अपना पहला निवेश (First Investment) किया|

First Big Profit : उनका पहला बड़ा मुनाफा 

राकेश ने अपनी काबिलियत और मेहनत के दम पर 1986 में अपना पहला बड़ा मुनाफा (Profit) कमाया|उन्होंने टाटा टी कम्पनी के 5000 शेयर्स  जो 43 रूपये प्रति शेयर के हिसाब से खरीदें और उन्हें 3 महीने बाद ही 143 रूपये प्रति शेयर के हिसाब से बेच दिये|जिसके कारण राकेश ने 5 लाख रूपये का मुनाफा कमाया|उसके बाद 1986 से 1989 के बीच राकेश ने 20 से 25 लाख रूपये का लाभ कमाया|

राकेश ने 2002-03 में टाइटन कम्पनी के 6 करोड़ शेयरो को 3 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से ख़रीदा और बाद में उन शेयरों कि कीमत 390 रुपये प्रति शेयर हो गई| जिसके कारण उनका निवेश 2100 करोड़ के पार चला गया|

Success Mantra : अनुभव 

राकेश जी का कहना है, कि आप गलतियों से ही सीख सकते है|जब तक आप अपनी गलतियों को मान कर उनसे कुछ सीखेंगे नहीं, तब तक आप आगे नहीं बढेंगे|राकेश जी यह मानते है कि निवेशको को हमेश गिरगिट की तरह होना चाहिए|और निवेशको का निवेश करते हुए खुद पर भरोसा होना बहुत जरुरी है|

राकेश के अनुसार – शेयर बाजार में तेजी के समय सबका फायदा और मंदी के समय नुकसान  होता है|इसलिए ये बात मायने नहीं रखती कि मैं अमीरों की लिस्ट में हूँ कि नहीं| मेरा सीधा और आसान मंत्र है -” Buy Right and Hold Tight” मतलब सही शेयर खरीदो और उसे झकड़ (Hold ) के रखो|

राकेश जी की सफलता (SUCCESS) : –  

राकेश झुनझुनवाला जी ने अपनी मेहनत और काबिलियत के दम पर वो मुकाम हासिल कर लिया है कि आज उन्हें किसी परिचय की जरुरत नहीं| वो शेयर बाजार के किंग माने जाते है|आज वे Aptech limited और हंगामा डिजिटल मिडिया एटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के चैयरमैन है|

हालांकि शेयर बाजार में कई बार उन्हें बहुत बड़े नुकसान भी हो चुके है, लेकिन उन गलतियों से ही उन्होंने सीख ली और आगे बढ गए। 

भावनात्मक निवेश (Emotional investment) शेयर मार्केट में पैसे डुबाने का  तरीका हैं। 

4 Comments

  1. Achhipost December 26, 2016
  2. Deepak josi January 21, 2017
    • vishal April 30, 2017
  3. shyam ji January 23, 2017

Leave a Reply