Meditation In Hindi : ध्यान से बदलिए अपना जीवन

Meditation – ध्यान

जीवन (Life) के उद्देश्य को प्राप्त करने और तनावमुक्त रहने का सबसे सरल एंव उपयोगी तरीका ध्यान या Meditation ही है| जानिए क्यों और कैसे केवल 20 मिनट का ध्यान या Meditation हमारी जिंदगी बदल सकता है|

Meditation : Hear You Inner Voice

Meditation या ध्यान, स्वंय से बात करने की विधि है|

मैंने पहले भी अपने लेख “The Secret of Life in Hindi – जीवन का रहस्य” में लिखा है कि हर मनुष्य के अन्दर एक शांत मनुष्य रहता है जिसे हम अंतरात्मा कहते है| हमारी अंतरात्मा हमेशा सही होती है और इसीलिए शायद यह कहा जाता है कि हम ईश्वर का अंश है| सभी महान लोगों ने यह स्वीकार किया है कि अंतरात्मा की आवाज (Inner Voice) ईश्वर की आवाज है और यह बात किसी धर्म विशेष से सम्बंधित नहीं है|

खुश रहने का सीधा सा तरीका यह होता है कि हम अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनें क्योंकि हमारी अंतरात्मा हमेशा हर परिस्थिति में सही होती है

हम जब कभी भी कुछ बुरा कर रहे होते है तो हमें कुछ अजीब सा लगता है मानो कोई हमें यह कह रहा हो कि वह बुरा काम मत करो| यह हमारी अंतरात्मा होती है जो हमें कुछ बुरा करने या किसी को दुःख पहुँचाने से रोकती है| और जब हम अपनी अंतरात्मा की आवाज को अनसुना कर देते है तो हमारा अपनी अंतरात्मा से संपर्क कमजोर हो जाता है|

जब हम दूसरी बार कुछ बुरा करने जा रहे होते है तो हमें अपनी अंतरात्मा की आवाज फिर महसूस होती है लेकिन इस बार वह आवाज इतनी मजबूत नहीं होती क्योंकि हमारा अपनी अंतरात्मा से संपर्क कमजोर हो चुका होता है|

जैसे जैसे हम अपनी अंतरात्मा की आवाज को अनसुना करते जाते है वैसे वैसे हमारा अपनी अंतरात्मा के साथ संपर्क कमजोर होता जाता है और एक दिन ऐसा आता है कि हमें वो आवाज बिल्कुल नहीं सुनाई देती|

जैसे जैसे हमारा अपनी अंतरात्मा के साथ संपर्क कमजोर होता जाता है वैसे वैसे हम उदास रहने लगते है और खुशियाँ भौतिक वस्तुओं में ढूंढने लगते है| हम समस्याओं को हल करने में असक्षम हो जाते है जिससे “तनाव” हमारा हमसफ़र बन जाता है|

और ऐसी परिस्थिति में हमें स्वंय को वापस अपनी अंतरात्मा के साथ जोड़ना होता है और इसका सबसे अच्छा तरीका ध्यान या मैडिटेशन है|

Meditation – Technique of Self Control and Self Realization

जैसे जैसे हमें अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनाई देना बंद होती है वैसे वैसे हमारा स्वंय पर नियंत्रण नहीं रहता और हम सही गलत को पहचानना नहीं पाते| ऐसी स्थिति मैं हम खुद को नियंत्रित नहीं करते बल्कि परिस्थितियां हमें नियंत्रित करती है| हम वो करने लगते है जो आलस्य, डर, तनाव, लालच, क्रोध, घमंड और इर्ष्या हमसे करवाते है|

मैडिटेशन खुद पर नियंत्रित रखने एंव Self Realization की एक पद्धति है जो हमारी जिंदगी को आसान एंव खुशमय बनाता है| मैडिटेशन से हमारा आत्मविश्वास और Concentration बढ़ता है जिससे हमारा समस्याओं के प्रति नजरिया बदल जाता है| हम समस्याओं को रचनात्मक तरीकों से बड़ी आसानी हल कर पाते है जिससे तनाव कम होता है|

Meditation: Connect With God

सभी महान लोगों ने यह माना है कि हमारी अंतरात्मा में एक अद्भुत शक्ति होती है | हम भी कभी कभी महसूस करते है कि शायद हमारी अंतरात्मा एक ईश्वरीय अंश है या फिर हमारी अंतरात्मा ईश्वर से हमेशा जुड़ी रहती है तभी तो वो हर परिस्थिति में सही होती है|

स्वामी विवेकानंद ने कहा है –

“आप ईश्वर में तब तक विश्वास नहीं कर पाएंगे जब तक आप अपने आप में विश्वास नहीं करते|

इसलिए ईश्वर से जुड़ने से पहले हमें अपनी अंतरात्मा से जुड़ना होता है या यूं कहें कि जब हम अपनी अंतरात्मा से जुड़ जाते है तो उस अद्भुत ईश्वरीय शक्ति से स्वत: ही जुड़ जाते है और मैडिटेशन हमें अपनी अंतरात्मा से जोड़ता है|

लगातार रोज Meditation करने पर हमें अद्भुत अनुभव होने लगते है जिसे शब्दों द्वारा नहीं बताया जा सकता| हमें उन सवालों के जवाब मिलने लगते है जो अभी तक अनसुलझे थे| हमें ऐसा लगता है जैसे हमारे साथ एक शक्ति है जो हमेशा हमारी मदद करेगी|

Healing Power of Meditation: Happiness Unlimited

मन को शांत करने के लिए प्रयास करने की नहीं बल्कि प्रयास छोड़ने जरूरत होती है और यही ध्यान का उद्देश्य होता है|

मैडिटेशन मन की एक सहज अवस्था है जिससे हमारे भीतर का खालीपन दूर होता है| यह हमारी जिंदगी को बदल देता जिससे हम भौतिक वस्तुओं में खुशियाँ ढूँढना छोड़कर खुश रहना सीख जाते है| हमारे जीवन का हर पल खुशनुमा हो जाता है और हम वर्तमान में जीना सीख जाते है|

जब हमारा मन शांत एंव संतुष्ट होता है तो हमारा Concentration बढता है जिससे हम समस्याओं को बेहतर तरीके से हल कर पाते है और उन्ही समस्याओं में हमें संभावनाएं दिखने लगती है|

Healing Therapy: Meditation Can Cure Diseases

यह कहा जाता है कि ज्यादातर रोगों का कारण चिंता या तनाव (Stress) होता है| ध्यान के माध्यम से हम मन को सकारात्मक एंव तनावमुक्त बना सकते है जिससे की सकारात्मक उर्जा हमारे शरीर हमारे शरीर में प्रवेश करती है और हमारा शरीर स्वस्थ बनता है|

शोध में यह बात सामने आयी है कि Meditation और Healing Power कैंसर समेत कई रोगों में लाभकारी है और मैडिटेशन से कई तरह के रोगों को दूर किया जा सकता है क्योंकि ज्यादातर रोग Stress or Anxiety  की वजह से होते है और मैडिटेशन Stress or Tension को दूर करता है|

Note: मैडिटेशन के महत्त्व को अच्छे से समझने के लिए लेख के कुछ अंश “The Secret of Life in Hindi – जीवन का रहस्य” से लिए है| 

 

101 Comments

  1. dharmveer July 5, 2015
    • Md Dilshad Raza January 2, 2017
    • sandip indalkar January 11, 2017
  2. Sachin Nishad July 10, 2015
  3. shashikant. July 27, 2015
  4. Jagdish Thawait July 30, 2015
  5. Jagdish Thawait July 30, 2015
  6. anurag pandey August 10, 2015
    • Kumar Rajesh Kumar May 2, 2017
      • Kumar Rajesh Kumar May 2, 2017
  7. ajeet verma August 11, 2015
  8. New Pandey August 31, 2015
  9. Mohmmad Arshad September 13, 2015
  10. priyq September 23, 2015
  11. sohan singh ramola September 23, 2015
  12. DIPEN KUMAR GUPTA September 28, 2015
  13. Dinesh chandra October 12, 2015
  14. Monu bairwa October 24, 2015
  15. saurabh pandya October 28, 2015
  16. tony stroke November 19, 2015
  17. Pitamber kumar December 14, 2015
  18. kirti kabir December 19, 2015
  19. Benudhar Pradhan December 31, 2015
  20. diwakar February 11, 2016
  21. Sunil Sharma February 27, 2016
  22. Prashant Kumar February 29, 2016
  23. dhanesh March 13, 2016
  24. saurabh March 14, 2016
  25. Rajeshlumar B. Varia March 25, 2016
  26. Ravi Rao March 29, 2016
  27. bhavesh March 30, 2016
  28. BUDDHI PRAKASH April 6, 2016
  29. BUDDHI PRAKASH April 6, 2016
  30. wish vull Srinivasan April 9, 2016
  31. roma abrol April 13, 2016
  32. mohit patil April 16, 2016
  33. ARJUN SINGH April 22, 2016
  34. Harshal April 23, 2016
  35. dev April 27, 2016
  36. thakare n.k May 1, 2016
  37. khemraj tiwari May 3, 2016
  38. सुरेश मोंगरा May 5, 2016
  39. pramod parekh May 9, 2016
  40. pramod soni May 10, 2016
  41. nepal singh May 13, 2016
  42. nepal singh May 13, 2016
  43. kamal pandey May 18, 2016
  44. uttara kumar nirala May 25, 2016
  45. Seema yadav June 12, 2016
  46. Seema yadav June 12, 2016
  47. Seema yadav June 12, 2016
  48. deepak kumar prasad June 16, 2016
  49. Samadhan June 26, 2016
  50. Simran June 30, 2016
  51. Rajendra Mehta July 3, 2016
  52. ramesh July 5, 2016
    • Virendra March 13, 2017
    • Virendra chavhan March 13, 2017
  53. Seemagarg July 14, 2016
  54. Seemagarg July 14, 2016
  55. vijender singhal July 15, 2016
  56. mahiraj July 27, 2016
  57. Yash July 27, 2016
  58. rajender July 30, 2016
  59. Ravinder Kumar July 30, 2016
  60. shailendra kumar dubey August 2, 2016
  61. manoj shinde August 11, 2016
  62. dilip bodar August 14, 2016
  63. hit August 16, 2016
  64. roop August 17, 2016
    • HAPPYHINDI August 17, 2016
  65. Hirenbhai August 31, 2016
  66. sachin September 6, 2016
  67. lalit Rajput September 9, 2016
  68. Panna September 12, 2016
  69. Patas Ram September 13, 2016
  70. राजेश चावला September 18, 2016
  71. satish sharma September 26, 2016
  72. Dr Annu mahajan September 26, 2016
  73. Rachna September 27, 2016
  74. Sanjay October 22, 2016
  75. Arun Kumar October 27, 2016
  76. rohit prakash November 8, 2016
  77. kirtimaan singh November 19, 2016
  78. ramesh November 20, 2016
  79. ramesh November 20, 2016
  80. pratima December 7, 2016
  81. Akshay soneshwar December 21, 2016
  82. Chandra Prakash kumar December 27, 2016
  83. lallu singh January 6, 2017
  84. sandip indalkar January 11, 2017
  85. MUKESH SINGH January 16, 2017
  86. pramod kumar January 20, 2017
  87. madan January 24, 2017
  88. dhiman April 12, 2017
  89. suraj May 2, 2017
  90. Sumit May 5, 2017
  91. Sourabh Rajput May 13, 2017

Leave a Reply