Mind power in hindi

Mind Power in Hindi – अवचेतन मन की शक्ति

Power of Subconscious Mind

हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए यह अति आवश्यक है कि हम यह समझें कि हमारा मन कैसे कार्य करता है – How Our Mind Works, चेतन और अवचेतन मन क्या है – What is Conscious and Subconscious Mind और कैसे हम मन की शक्ति को समझकर अपने जीवन को बेहतर बना सकते है – Understanding Power of Mind.

 

Psychology: Mind Power

मनोविज्ञान (Psychology) में मनुष्य के मन को अलग अलग भागों में के रूप में देखते है| मुख्य रूप से मन को दो भागों – चेतन मन एंव अवचेतन मन के रूप में बाँटा गया है|

चेतन या अवचेतन मन का विभाजन कोई वास्तविक भौतिक आधार पर नहीं किया जाता बल्कि यह तो एक मनोविज्ञान की अवधारणा है या मन की अवस्थाएँ है|

इस अवधारणा को समझकर हम अपने जीवन में एक बड़ा परिवर्तन ला सकते है|

 

Subconscious Mind

चेतन मन हमारी चेतन या सक्रिय (Active) अवस्था है, जिसमें हम सोच विचार और तर्क के आधार पर निर्णय लेते है या कोई कार्य करते है|

अवचेतन मन एक Storage Room की तरह है, जो हमारे सभी विचारों, अनुभवों, धारणाओं आदि को Store (संग्रहित) करता है| अवचेतन मन (Subconscious Mind) तर्क एंव सोच विचार के निर्णय नहीं लेता बल्कि यह हमारे पिछले अनुभवों एंव धारणाओं के आधार पर स्वचालित तरीके से कार्य करता है|

 

चेतन मन और अवचेतन मन को एक उदाहरण द्वारा समझा जा सकता है –

जब भी कोई व्यक्ति पहली बार साईकिल चलाना सीख रहा होता है, तो उसे साईकिल को ध्यानपूर्वक नियंत्रित करना होता है| शुरुआत में वह संतुलन नहीं बना पाता और थोड़ा डरा हुआ भी रहता है|

लेकिन कुछ दिनों बाद जब वह साईकिल चलाना सीख जाता है तो अब उसे साइकिल को नियंत्रित करने के बारे में सोचने की भी आवश्यकता नहीं होती| अब साइकिल अपने आप नियंत्रित हो जाती है और अब तो वह मित्रों के साथ बातचीत करते हुए या कोई और कार्य करते हुए भी साइकिल चला सकता है|  

 

ऐसा क्यों होता है ?????   

 

Subconscious Mind – Autopilot System

 

शुरुआत में जब व्यक्ति पहली बार साइकिल चलाना सीख रहा होता है तो वह अपना “चेतन मन (Conscious Mind)” इस्तेमाल कर रहा होता है| लेकिन जब वह बार-बार साइकिल चलाने की प्रैक्टिस करता है, तो अब यह अनुभव उसके अवचेतन मन में संग्रहित (Store) होने शुरू जाते है और धीरे धीरे अवचेतन मन, चेतन मन की जगह ले लेता है|

हमारा अवचेतन मन एक ऑटोपायलट सिस्टम (Autopilot System) की तरह है जो अपने आप स्वचालित तरीके से कार्य करता है|

सभी स्वचालित कार्यों जैसे साँस लेना, दिल धड़कना आदि कार्य अवचेतन मन के द्वारा ही किए जाते है| हमारी आदतें एंव रोजमर्रा के सभी कार्यों में अवचेतन मन का महत्वपूर्ण योगदान होता है|

 

How Mind Works

अवचेतन मन एक सॉफ्टवेयर या रोबोट की तरह है, जिसकी प्रोग्रामिंग चेतन मन द्वारा की जाती है| अवचेतन मन एक रोबोट की तरह है जो स्वंय कुछ अच्छा बुरा सोच नहीं सकता, वो तो केवल पहले से की गई प्रोग्रामिंग के अनुसार स्वचालित तरीके से कार्य करता है|

हमारे हर एक विचार का हमारे अवचेतन मन पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है या यह कह सकते है कि हम जो कुछ भी सोचते है या करते है उससे हमारे अवचेतन मन की प्रोग्रामिंग होती जाती है और फिर बाद में धीरे धीरे अवचेतन मन उस कार्य को नियंत्रित करने लगता है|

हमारी आदतों और धारणाओं का निर्माण भी ऐसे ही होता है और बाद में वह आदत स्वचालित रूप से अवचेतन मन के द्वारा नियंत्रित होती है|

 

How to Program our Subconscious Mind

यह हम पर निर्भर करता है कि हम अपने अवचेतन मन की प्रोग्रामिंग कैसे करते है| एक बार प्रोग्रामिंग हो जाने के बाद अवचेतन मन उसी के अनुसार कार्य करने लगता है – चाहे वह कार्य गलत हो या सही|

चेतन मन (Conscious Mind) को विचारों का चौकीदार या गेटकीपर भी कहा जा सकता है| दरअसल हमारा हर विचार एक बीज की तरह है और हमारा अवचेतन मन एक बगीचे की तरह है| हमारा चेतन मन यह निर्णय करता है कि अवचेतन मन में कौनसा बीज बौना है और कौनसा नहीं|

हम कभी कभी अनजाने में अपने अवचेतन मन की गलत प्रोग्रामिंग कर देते है – जैसे अगर मैं यह सोचता हूँ आज मैं यह लेख नहीं लिखूंगा तो यह छोटा सा विचार धीरे धीरे मेरे कार्य को कल पर टालने की आदत बन सकता है|

गहन चिंतन और मैडिटेशन के द्वारा हम अवचेतन मन की Reprogramming करके इसमें इन्स्टाल किए हुए गलत सॉफ्टवेयर को धीरे-धीरे डिलीट कर सकते है|

 

हमारे जीवन के एक महत्वपूर्ण भाग को “अवचेतन मन” नाम का रोबोट नियंत्रित करता है और यह रोबोट, चेतन मन द्वारा की गयी प्रोग्रामिंग से नियंत्रित होता है| इस रोबोट की प्रोग्रामिंग विचार रुपी बीज से होती है, इसलिए सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि हम कौनसे विचार चुनते है और अपने अवचेतन मन में किस तरह के सॉफ्टवेयर इंस्टाल करते है|     

 

All the Best

Be Happy with happyhindi.com

Published by

HAPPYHINDI

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया इसे फेसबुक एंव अन्य सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें| आपका यह प्रयास हमें और अच्छे लेख लिखने के लिए प्रेरित करेगा|

97 thoughts on “Mind Power in Hindi – अवचेतन मन की शक्ति”

  1. वाह ! लेखों (Articles) का आपका कलेक्शन बहुत ही अच्छा है। मुझे ख़ुशी हो रही है कि मैं आपके इतने अच्छे ब्लॉग पर आया हूँ जहाँ मुझे इतनी अच्छे लेख पढ़ने को मिले। अवचेतन मन की शक्ति के बारे में आपने बहुत अच्छा लिखा है , अब अवचेतन मन के बारे में सारी बातें क्लियर हो गई। आपका धन्यबाद !
    From-
    aapkisafalta

  2. बहुत ही रोचक है Subconscious Mind इसके बारे में जानना बहोत मजेदार लगा बहुत ही जानकारी से भरपूर पोस्ट और ब्लॉग है धन्यवाद

  3. Story pdna to sub ko achha lgta h pr yeh site bychance hi kholi jati in website ko add mein dena chahiye taki sb iska labh udha ske

  4. Jab be negative energy s mind depression m jata h aisi story ek energy booster ki tarah work karti h..n ek naya josh bhar deti h..

  5. Vry good thoughts.that improves our thinking.every success comes by doing small efforts regularly.I m vry impressed.thank u

  6. sir ji manna padega aap to bikul meri trah sochte ho ya mai aapki trah…….
    mere dimaag me hamesha yhi chlta hai ……pr koi smjhta ni hai … pr ye tareeka jo aapne apnaya hai bilkul shi .. hai..

    dhanyawaad

  7. आप का बहुत धन्यवाद सर !!! अपने ये वेब बनाई और मुझे इसकी कहानियाँ पढ़ कर अपने अंदर बदलाव करने की जानकारी मिली…
    अपने हमे अपनी नीव पर कार्य करने के लिए प्रेरित किया..
    आपका बहुत बहुत धन्यवाद

  8. Aapka lekh bahut hi prabhavit karta hai avchetan man ko……ispar kaise niyatran pana hai iski bahut achhii jaankari mili mujhe…….thanku so much itni achhi baaton ko simple tareeke se samjhane ke liye

  9. Kya subconcious mind khud hi sucess lata hai ki hame kuch kam bhi karna padta hai
    Please reply me as soon as possible

  10. mujhe sub co. mind ke bare me bahut kuch pata hai but ab tak kuch use nahi kar paya pata nahi kaha galti hoti hai yes i m not regular with it but what should i do to use it

  11. Hello sir/mam
    mera ek swaal he
    ,kabhi kbhi ham stress me hote he ,lekin hme pta bhi nhi hota he ki hum kya soch rhe he ,kyu soch rhe he bas h kuch soch rhe hote he, to is situation me hme kya krna chahiye ki hmara diaag shaant rhe or hum apna sara kaam ache se kr ske bina tension ke.

  12. What is subconscious? After all I knew.Thanks a lot.In my point of view it is very effected story in human life.

  13. बहुत अच्छा ऐसे लेखोँ के लिए मै मनोविज्ञान के बारीकियो को जानना चाहता हु इसके बारे मे मुझे बताए

  14. मेने चेतन और अवचेतन मन की शक्ति को बहुत गेहराई से समझ लिया ह और इसका बहुत जयदा लाभ मुझे मिलता है।दोस्तों में जो भी सोचता हु वो में चेतन मन से सोचता हु और परिणाम स्वरूप में जो चाहता हु वैसा ही मेरे साथ होता है दोस्तों। इतने अच्छे पोस्ट के लिए धन्यवाद्

  15. बहोत बहोत अच्छा लगा. सुविधा अच्छि मिली इंटरनेट युग मैं,आराम से थोड़ा थोड़ा पढा.??
    धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *