कहानी – Never Judge Anyone – Heart Touching Moral Story


motivational heart touching story

एक डॉक्टर को 15 वर्ष के एक बच्चे के बेहद जरूरी ऑपरेशन के लिए अस्पताल बुलाया गया| डॉक्टर जल्दी से अस्पताल पहुंचे और ऑपरेशन रूम की तरफ जाने लगे|

वहां पर खड़े उस लड़के के पिता बेहद चिंतित थे और वे बहुत देर से डॉक्टर का इन्तजार कर रहे थे|

जैसे ही उस बच्चे के पिता ने डॉक्टर को देखा तो वे बोले – आपने आने में इतनी देर क्यों कर दी| क्या आपको पता नहीं कि मेरे बेटे की जान खतरे में है| आप लोग इतने गैर-जिम्मेदार कैसे हो सकते है|

डॉक्टर ने कहा – श्रीमान मुझे माफ़ कर दीजिए, मैं अस्पताल में नहीं था और जैसे ही मुझे फोन आया मैंने जल्द से जल्द अस्पताल पहुँचने की कोशिश की है| कृपया आप शांत हो जाइए ताकि मैं आपके बेटे का इलाज कर सकूँ

लड़के के पिता ने कहा – शांत हो जाऊं? क्या आपका बेटा यहाँ लेटा होता और मौत से लड़ रहा होता, तो आप शांत हो जाते?

डॉक्टर ने कहा – मिट्टी से हम आए थे और हमें मिट्टी में ही मिल जाना है| डॉक्टर किसी के भी जीवन को लम्बा नहीं कर सकते| श्रीमान आप भगवान से अपने बेटे के लिए प्रार्थना कीजिए, हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे कि आपके बेटे को कुछ न हो|

लड़के के पिता ने मन ही मन कहा – जब तक आप उस परिस्थिति से न गुजरें हो तब तक उसके बारे में उपदेश देना आसान है

कुछ घंटों के ऑपरेशन के बाद डॉक्टर बाहर आए और लड़के के पिता को कहा – “भगवान का शुक्र है कि आपका बेटा अब सुरक्षित है| आपको कुछ भी पूछना हो तो कृपया नर्स से पूछ लीजिएगा

इतना कहकर डॉक्टर जल्दी से वहां से चले गए|

लड़के के पिता ने पास में खड़ी नर्स से कहा – “कितने घमंडी डॉक्टर है! क्या वे कुछ मिनटों के लिए नहीं रूक सकते थे? मुझे मेरे बेटे की स्थति के बारे में जानना है|

नर्स की आँखों में आंसू थे|

नर्स ने कहा – कल डॉक्टर के बेटे का निधन हो गया था| जब हमने आपके बेटे के ऑपरेशन के लिए फोन किया था तो वे अपने बेटे के अंतिम संस्कार को बीच में छोड़कर ऑपरेशन करने आए थे| अब लौटकर वे अपने बेटे के अंतिम संस्कार के कार्य को पूरा करेंगे|

 

Moral Of The Story

Never judge anyone,  because you never know how their life is & what they’re going through”

motivational heart touching story

हर व्यक्ति की अपनी कहानी होती है और हम उनके जीवन की परिस्थियों के बारे में नहीं जानते| इसलिए उनके व्यवहार के बारे में हमें निर्णय लेने का कोई अधिकार नहीं|


अभिषेक राजस्थान से हैं और वे हैप्पीहिंदी.कॉम पर बिज़नेस, इन्वेस्टमेंट और पर्सनल फाइनेंस के विषयों पर पिछले 4 वर्षों से लिख रहे हैं| उनसे [email protected] पर संपर्क किया जा सकता हैं|

9 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  1. दिन हुआ है तो रात भी होगी,
    हो मत उदास, कभी बात भी होगी,
    इतने प्यार से दोस्ती की है,
    जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी..

अभी डीमेट अकाउंट खोलकर इन्वेस्टिंग शुरू करें!