समय : Time

समय की कीमत : Value of Time

कल्पना कीजिए कि आपके पास एक बैंक अकाउंट है (Bank Account) और हर रोज सुबह उस बैंक अकाउंट में 86,400 रूपये जमा हो जाते है, जिसे आप उपयोग में ले सकते है| आप रूपयों को बैंक अकाउंट (Bank Account) से निकाल कर अपनी तिजोरी में जमा करके नहीं रख सकते| इस बैंक अकाउंट में कैरी फोरवर्ड (Carry Forward) का सिस्टम नहीं है यानि कि जिन रूपयों को आप उपयोग में नहीं ले पाते, वह रूपये शाम को वापस ले लिए जाते है और आपका अब उन पर कोई अधिकार नहीं रहता|

यह बैंक अकाउंट कभी भी बंद हो सकता है| हो सकता है कि कल ही यह बैंक अकाउंट (Bank Account) बंद हो जाए या फिर 2 वर्ष बाद या फिर 50 वर्ष बाद| लेकिन इतना तो निश्चित है कि यह बैंक अकाउंट एक दिन जरूर बंद होगा|

 

 

ऐसी परिस्थिति में आप क्या करेंगे????

जाहिर है आप पूरे के पूरे 86,400 रूपयों का उपयोग कर लेंगे और इन 86,400 रूपयों का उपयोग अच्छे कार्यों के लिए करेंगे क्योंकि यह बैंक अकाउंट (Bank Account) कभी भी बंद हो सकता है|

 

समय अनमोल है: Time is Precious 

क्या आप जानते है कि ऐसा ही एक बैंक अकाउंट हमारे पास होता है जिसका नाम है “जिंदगी (Life)” और इस “जीवन” रुपी बैंक अकाउंट में प्रतिदिन 86,400 सेकंड्स (Seconds) जमा होते है जिनका उपयोग कैसे करना है यह हम पर निर्भर करता है| हम चाहें तो इन 86,400 सेकंड्स का उपयोग बेहतरीन कार्यों के लिए कर सकते है और अगर ऐसा नहीं करते तो यह व्यर्थ हो जाएंगे| यह जीवन रुपी बैंक अकाउंट कभी भी बंद हो सकता है इसलिए देर मत कीजिए आपके जीवन का हर पल अमूल्य है इसलिए समय का सदुपयोग कीजिए|

अगर किसी को भी ऐसा बैंक अकाउंट दे दिया जाए जिसमें रोज 86,400 रूपये जमा हो तो वह व्यक्ति बहुत खुश हो जाएगा और एक रूपया भी व्यर्थ नहीं गवाएंगा | क्या हमारे जीवन के एक सेकंड की कीमत एक रूपये से भी कम है| हम कैसे अपने जीवन की सबसे अनमोल सम्पति को ऐसे ही व्यर्थ गँवा सकते है|

खोया हुआ धन फिर कमाया जा सकता  है, लेकिन खोया हुआ समय वापस नहीं आता| उसके लिए केवल पश्चाताप ही शेष रह जाता है। हर एक दिन को व्यर्थ गंवाना आत्महत्या करने के समान है| बिना समय प्रबंधन के आज तक कोई भी सफल नहीं हुआ|

कबीर दास जी का यह छोटा सा दोहा, जीवन का सबसे बड़ा मंत्र बता देता है-

 

काल करै सो आज कर, आज करै सो अब।
पल में परलै होयेगी, बहुरी करेगा कब।।

 

बीते हुए कल को भूल जाइए, उसका आज कोई वजूद नहीं| आज आपका है, आज एक नयी शुरुआत कीजिए|

 

 

 “जो व्यक्ति अपने समय को नष्ट कर देते है, समय उन्हें नष्ट कर देता है।’’

54 Comments

  1. satish kukwas October 28, 2015
    • sanjeev December 30, 2016
  2. vinod singh December 1, 2015
  3. Mr R.K.Goswami December 8, 2015
  4. surendra December 29, 2015
  5. Mukesh January 12, 2016
  6. VIKKY SONI January 22, 2016
  7. mata prasad March 7, 2016
  8. akash shaw` March 9, 2016
  9. bhupendra yadav March 10, 2016
  10. SATYA GUPTA March 13, 2016
    • SATYA GUPTA March 13, 2016
  11. jittu kushwaha March 18, 2016
  12. Manoj Patel April 29, 2016
  13. Rajesh May 27, 2016
  14. Anjum Chaudhary May 29, 2016
  15. Roshni June 24, 2016
    • praveen singh December 25, 2016
  16. kaushal prasad sharma June 29, 2016
  17. Mohd Amir July 11, 2016
  18. Priyanka September 1, 2016
  19. Nikhil September 11, 2016
  20. nutan September 12, 2016
  21. valueKishor kumar mahto September 13, 2016
  22. Ashok kinger September 22, 2016
  23. संजय September 25, 2016
  24. aashish thepe September 25, 2016
  25. santosh.soni September 28, 2016
  26. SP September 29, 2016
  27. SP September 29, 2016
  28. Shreeram October 5, 2016
  29. Ravi kumar October 10, 2016
  30. Badri October 11, 2016
  31. deep October 12, 2016
  32. Deep October 12, 2016
  33. Prakash October 14, 2016
    • HAPPYHINDI October 14, 2016
  34. nitin.bijalwan October 15, 2016
  35. Mahaveer bisht October 20, 2016
  36. SARTHAK SRIVASTAVA October 20, 2016
  37. D.P. November 13, 2016
  38. Varad November 15, 2016
  39. Varad November 15, 2016
  40. Varad November 15, 2016
    • HAPPYHINDI November 15, 2016
  41. PRANJUL November 22, 2016
  42. akhalakh ahamad November 25, 2016
  43. Dheeraj bairwa November 28, 2016
  44. samir tayade December 7, 2016
  45. Ganesh Munda December 12, 2016
  46. amit singare December 19, 2016
  47. Mukesh December 26, 2016
  48. Pankaj kumar December 31, 2016
  49. Himani jangir January 7, 2017

Leave a Reply