Innovative business idea hindi story

इंजीनियरिंग के बाद शुरू की शू पॉलिश – Innovative Business Idea (Hindi Story of Sandeep Gajakas)

” संघर्ष में आदमी अकेला होता है| सफलता में दुनिया उसके साथ होती है|जिस – जिस पर ये जग हँसा है, उसी ने इतिहास रचा है|”

ये बात सच कर दिखाई है, मुंबई के ”संदीप गजकस” ने| जिन्होंने अपनी इंजीनियरिंग को छोड़ कर वो काम करने का फैसला लिया, जिसे लोग शायद मजबूरी में भी ना करना चाहे| वो काम है – जूता पोलिशिंग और रिपेयरिंग का|

हाँ ये बात बिल्कुल सच है| संदीप ने देश का पहला जूता पोलिशिंग और रिपेयरिंग का बिज़नेस शुरू किया| उन्होंने अपने यूनिक बिज़नेस आईडिया के कारण शानदार सफलता पाई और देखते ही देखते आज उनकी कम्पनी देश के 10 राज्यों में पंहुच चुकी है|इतना ही नहीं संदीप की कंपनी कई मशहूर बड़े ब्रांड Puma, Reebok, Nike और Fila समेत कई बड़ी कम्पनिया जुड़ी हुई है| | 

विदेश जाने का फैसला बदलकर, शू पॉलिशिंग का बिज़नेस शुरू किया 

Innovative business idea hindi story

इंजीनियरिंग करने के बाद संदीप जॉब के लिए गल्फ जाने की तैयारी कर रहे थे लेकिन उसी समय अमेरिका में 9/11 का आंतकवादी हमला हुआ जिसके बाद संदीप ने विदेश जाने का इरादा छोड़ दिया और शू  लांड्री बिज़नेस शुरू करने का फैसला किया|

पढ़ें: कूड़ा उठाने लड़का बना मशहूर फोटोग्राफर 

घर वाले नहीं थे खुश

संदीप ने जब ये फैसला अपने परिवार को सुनाया तो उनके घर वाले इस बात से बिल्कुल खुश नहीं थे| जाहिर है वे खुश भी कैंसे होंगे| क्योकि कौनसे माता-पिता ऐसे होंगे जो अपने बेटे को इंजीनियरिंग छोड़ कर जूता रिपेयरिंग और पॉलिशिंग करते हुए देखना चाहेंगे|

लेकिन फिर भी संदीप पूरी दुनिया की आवाज को अनसुना करके अपने दिल की सुनी| संदीप ने 12000 रूपये खर्च कर बिज़नेस शुरू किया और बाथरूम को वर्कशॉप बना कर दोस्तों और रिश्तेदारों के जूते पॉलिश और रिपेयरिंग करने का काम शुरू किया| धीरे-धीरे उनकी मेहनत संघर्ष की और बढ़ने लगी| उन्होंने संघर्ष जारी रखा और धीरे-धीरे उनका संघर्ष सफलता में बदल गया|    

पुराने जूतों को बिल्कुल नया बनाने के इनोवेटिव तरीके खोजे 

खुद संदीप कहते है – “मैंने सबसे ज्यादा समय अपनी रिसर्च पर दिया| क्योंकि मैं कुछ ऐसे इनोवेटिव तरीके खोज रहा था, जो पुराने जूतों को एकदम नया बना दे, इसलिए मैंने पहले फ़ैल होना सीखा और वो तरीके खोजे जो मुझे नहीं करने चाहिए थे| और आखिरकार मैंने 2003 में देश की पहली ‘ The Shoe Laundry Company ‘ शुरू की|

Sandeep Gajakas Hindi Story

सालाना टर्नओवर 2 करोड़ से ज्यादा 

संदीप ने ये कम्पनी 2003 में शुरू की थी| और संदीप की मेहनत और काबिलियत के कारण आज उनकी कम्पनी का सालाना टर्नओवर 2 करोड़ से ज्यादा है| इतना ही नहीं वो अपनी फ्रेंचाइजी को भी बेच रहे है| आज उनकी फ्रेंचाइजी मुंबई, पुणे, गोरखपुर समेत कई शहरों में खुल चुकी है| और ये तेजी से बढ़ती भी जा रही है|

Website: TheShoeLaundry.Com

पढ़ें अन्य लेख:

इस भारतीय ने बनाया प्लास्टिक की थैलियों का विकल्प जिसे आप खा भी सकते हैं

ऑनलाइन पैसे कैसे कमायें 

800 रूपये कमाने वाले टूर गाइड ने बनाई विश्व की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी 

Published by

HAPPYHINDI

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया इसे फेसबुक एंव अन्य सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें| आपका यह प्रयास हमें और अच्छे लेख लिखने के लिए प्रेरित करेगा|

3 thoughts on “इंजीनियरिंग के बाद शुरू की शू पॉलिश – Innovative Business Idea (Hindi Story of Sandeep Gajakas)”

  1. Hello sir mai ,19 years ka ek boy hu aur b.sc part 1kar RHA hu aur mai business karna chahta hu mujhe technology se bahut lagaav h aur jugaad (bhangaar) technology se nayi nayi cheeje bnakar selling karna chahta hun jaise k market me washing machine 10000/15000 ka aata h lekin mai use jugaad se bna kar saste daamo me bechunga but samajh me nhi Aa RHA h kaise start karu. Bussiness qki mere paas jagah v nhi h plzz help me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *